बाएं और दाएं दोनों हाथों से गेंदबाजी कर सकता है यह भारतीय क्रिकेटर, IPL 2021 में कर चुका है ये कारनामा

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कोच जॉन बुकानन ने कहा है कि आने वाले दिनों में दोनों हाथों वाले गेंदबाज आमने-सामने होंगे। हालांकि बहुत कम गेंदबाज दोनों हाथों से गेंदबाजी कर पाते हैं।

निवेथन-राधाकृष्णन

ऐसा ही एक क्रिकेटर ऑस्ट्रेलिया में सामने आ रहा है। जो एक नहीं बल्कि दो हाथ से गेंदबाजी कर सकता है। इस गेंदबाज को आने वाले दिनों में ऑस्ट्रेलिया की टीम में देखकर आप हैरान नहीं होंगे। दोनों हाथों से गेंदबाजी करने में सक्षम इस गेंदबाज का नाम निवेथन राधाकृष्णन है। वह बाएं और दाएं दोनों हाथों से स्पिन गेंदबाजी कर सकते हैं। वह हाल ही में आईपीएल 2021 में शामिल हुए थे।

आईपीएल 2021 के दौरान दिल्ली कैपिटल्स के लिए निवेतन राधाकृष्णन नेट बॉलर थे। जहां वह स्टीव स्मिथ, शिमरोन हैटमेयर, पृथ्वी शॉ, शिखर धवन जैसे बल्लेबाजों को गेंदबाजी कर रहे थे। गेंदबाज को पहली बार दिल्ली कैपिटल्स ने 2019 में ऑस्ट्रेलियाई अंडर-16 टीम में देखा था। वह तब दुबई में पाकिस्तान के खिलाफ खेल रहे थे। वह दोनों हाथों से गेंदबाजी करने के अलावा ओपनिंग बैटिंग भी करते हैं।

निवेतन भारतीय मूल के हैं, हालांकि उनके माता-पिता कुछ साल पहले ऑस्ट्रेलिया चले गए थे। यहीं पर उन्होंने अपने क्रिकेट कौशल का सम्मान किया। निवेतन राधाकृष्णन को हाल ही में न्यू साउथ वेल्स और तस्मानिया दोनों द्वारा अनुबंध की पेशकश की गई थी। बाद में उन्होंने तस्मानिया के अनुबंध को स्वीकार कर लिया।

राधाकृष्णन ने क्रिकेट में खुद को स्थापित करने के लिए अपनी स्कूली शिक्षा के अंतिम वर्ष को भी रोक दिया। निवेतन 18 साल के हैं, लेकिन उनका कहना है कि वह 15 साल से क्रिकेट खेल रहे हैं। वह 4 साल की उम्र से अंडर-14 क्रिकेट खेल रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राधाकृष्णन ने कहा, ”वह दूसरे बच्चों की तरह नहीं है. मैं दूसरे लोगों की तरह नहीं हूं.” मैं अलग हूँ।

निवेतन के आदर्श गैरी सोबर्स

जब वह पांच या छह साल का था तब वह अपने दाहिने हाथ से गेंदबाजी करता था। हालांकि, एक दिन उनके पिता ने उन्हें बाएं हाथ से गेंदबाजी करने की कोशिश करने को कहा। वह वेस्टइंडीज के क्रिकेटर गैरी सोबर्स को अपना आदर्श मानते हैं। उन्होंने इस क्रिकेटर से जुड़ी हर किताब पढ़ी है। यानी खेल के दौरान वह ज्यादा से ज्यादा गैरी की तरह खेलने की कोशिश करते हैं। वह सबसे महान खिलाड़ी हैं। उसके जैसा कोई नहीं हो सकता।

ये खिलाड़ी भी करता है दोनों हाथों से गेंदबाजी

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कोच जॉन बुकानन ने कहा है कि आने वाले दिनों में दोनों हाथों वाले गेंदबाज आमने-सामने होंगे। हालांकि बहुत कम गेंदबाज दोनों हाथों से गेंदबाजी कर पाते हैं। इनमें ऑस्ट्रेलिया की जेम्मा बार्स्बी, श्रीलंका की कामिंडू मेंडिस और बांग्लादेश की शैला शर्मिन के साथ-साथ पाकिस्तान की यासिर जान शामिल हैं।

मेंडिस और शरमिन ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दोनों हाथों से गेंदबाजी की है। यासिर जान एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जो दोनों हाथों से 130 रन की रफ्तार से गेंदबाजी कर सकते हैं। हालांकि इनमें से कोई भी गेंदबाज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ज्यादा सफल नहीं रहा है। देखना होगा कि निवेतन का भविष्य कैसा होगा।

Source link

Click to rate this post!
[Total: 0 Average: 0]
Categories SPORTS

Leave a Comment