ब्लॉगिंग कैसे शुरू करें – एक व्यवसाय, समय, निवेश, कमाई, सफलता हिंदी में

How To Start Blogging - A Business, Time, Investment, Earning, Success In Hindi

ब्लॉगिंग क्या है ? यह एक बिजनेस है।

इसे आप एक बिजनेस ही समझिए। क्युकी जब तक आप इसे बिजनेस नहीं समझेंगे तब तक आप इसको लेकर सीरियस नहीं होगे।
हो सकता है, आप इसे स्टार्टिंग में पार्ट टाइम करें या कम टाइम दे लेकिन आपको इसे एक बिजनेस स्मजना ही होगा क्युकी ये आपको बदमे अच्छे रिटर्न देने वाला है, और हर वो चीज देने वाला है, जो आपको एक ऑफलाइन बिजनेस देता है।

दूसरी बात है कि इसमें इन्वेस्ट कितना करना है? 

आपको इसमें टाइम और पैसे कितने इन्वेस्ट करना है, इसकी कोई लिमिट या कंडीशन नहीं है, ये आप पे डिपेंड करता है।
कि आप इसमें कितना टाइम इन्वेस्ट करते है, अगर 8 से 10 घंटे देडिकेटली देगे तोह जादा अच्छा रहेगा।
और रही बात पैसों की तोह इसकी भी कोई लिमिट नहीं है, लेकिन अगर आपको स्टार्टिंग करनी है, एकदम बेसिक से और आपको कुछ भी आता है, तोह मैक्सिमम 5000 रुपए आपको लेके चलना है।
जीरो से भी स्टार्ट हो सकता है, ऐसा कुछ कंप्लसरी नहीं है कि 5000 रुपए चाइए ही चाइए।

तीसरा सवाल की इसे ब्लॉगिंग स्टार्ट कैसे करे?

भोत से लोग है जो  बहुत दिन से सोच ही रहे है, कि इसे स्टार्ट करना है पर कर नहीं पाते तो आपको सिर्फ सोचना नहीं है,
इससे ऊपर उठ के इसे स्टार्ट करना होगा क्योंकि जब तक आप स्टार्ट नहीं करेगे तब तक आपको ग्रोथ या डिक्लाइन या नॉलेज कुछ भी नहीं मिलेगा।
 
आप चाहे कितने भी विडियोज देखलो ब्लॉग्स देखलो पर जो नॉलेज आपको प्रैक्टिकल करने से मिलेगी वो कहीं और से नहीं मिलेगी।
इसलिए अच्छा खराब केसा भी ब्लॉग आज ही स्टार्ट करदे सही टाइम का वेट न करे, चाहे वो फ्री प्लेटफॉर्म पे हो या पैड प्लेटफॉर्म पे बस स्टार्ट करदे।

उसके बाद बात अति है की प्लेटफॉर्म कोनसा चूज करे कौनसे प्लेटफॉर्म से जादा रेवेन्यू मिलेगा?

भोत लोगो को लगता है ब्लॉगर से तोह कुछ होगा ही नहीं और वर्डप्रेस तोह भोत महेंगी है, इसलिए इससे जदा रेवेन्यू आ सकता है।
तोह ऐसा कुछ भी नहीं है कि स्पेसिफिक यही साइट अच्छी है या वहीं साइट अच्छी है, आपको ऐसे भोत से एग्जाम्पल मिल जायेगे जो दोनों ही साइट से अच्छा कर रहे है।
डिपेंड करता है कि आपको किस टाइप का ब्लॉग पे काम करना है, अगर आपको आर्टिकल में कुछ इन्फॉर्मेशन लिखना है, और चाहते हो कि लोग उसे पढ़े तोह आप ब्लॉगर यूज करें और अगर थोड़े डायनमिक और फीचर के साथ शुरू करना है तोह वर्डप्रेस यूज करें।

लेकिन एक मेन प्रॉब्लम आता है, कि टॉपिक क्या चूज करे? ये प्रबल्म सबके साथ होती है।

लेकिन क्या चोइसेस है कि यही टॉपिक है, ब्लॉग के लिए नहीं इसकी कोई लिमिट नहीं है।
एक बार आपने लिखना स्टार्ट किया फिर टॉपिक आपके मन मे अपने आप ही आना सुरु होजाएंगे।
अगर किसी से पूछकर टॉपिक चूज करेगे तोह आपको प्रॉब्लम आ सकती है।
हो सकता है आपको उस चीज के बारे में नॉलेज नहीं होगा या फिर कंटेंट लिखने में प्रॉब्लम आयेगी इसलिए टॉपिक खुद ही चूज करे ताकि आपको कोई प्रॉब्लम ना आए इससे आप अच्छा ब्लॉग भी लिख पाएंगे।
फिर जो टॉपिक डिसाइड किया है, उसपे र्ट्रैफिक कैसे लाना है? रेवेन्यू कैसे जनरेट करना है? इस बारे में सोचे।
एक और सवाल है, जो लोगो को भोत परेशान करता है, कि ब्लॉग तो स्टार्ट कर दिया, पर इस्पे ट्रैफिक कैसे आयेगा? रेवेन्यू कैसे? और कब तक आयेगा? कितने व्यूज पे कितने पैसे मिलेगे?
अगर आप कंसितेंसली एक डायरेक्शन में काम करेगे तो आपको जा दा टाइम नहीं लगेगा रेवेन्यू क्रिएट करने में 
और फिर भी एक एप्रॉक्स टाइम बोलू तो वो लगभग एक साल समझ लीजिए एक साल के अंदर ही आपका रेवेन्यू स्तर हो जाएगा।
Click to rate this post!
[Total: 0 Average: 0]

Leave a Comment