200 रुपये, 500 रुपये और 2000 रुपये के नोट छापने में रिजर्व बैंक को कितना खर्च आता है?

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की स्थापना वर्ष 1935 में हुई थी। RBI द्वारा जारी किया गया पहला करेंसी नोट 5 रुपये का नोट था। यह नोट 1938 में छपा था।

भारतीय मुद्रा

देश में करेंसी जारी करने का अधिकार केवल भारतीय रिजर्व बैंक के पास है। भारतीय रिजर्व बैंक मुद्रा छपाई के लिए न्यूनतम आरक्षित प्रणाली के नियम का पालन करता है।

यह नियम 1956 में बनाया गया था। रिजर्व बैंक को करेंसी नोटों की छपाई के खिलाफ हमेशा 200 करोड़ रुपये का न्यूनतम रिजर्व रखना होता है। इसमें से 115 करोड़ सोना है और 85 करोड़ विदेशी मुद्रा है।

आप हर दिन 10, 20, 50, 100, 500 और 2000 के करेंसी नोटों का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन्हें प्रिंट करने में कितना खर्च आता है?

आइए जानते हैं कि 200 रुपये, 500 रुपये और 2000 रुपये के 1 नोट को छापने में रिजर्व बैंक को कितना खर्च आता है।

किसी भी करेंसी नोट को प्रिंट करने की लागत सीधे उसके मूल्य से संबंधित नहीं होती है। यह मानकर कि 100 रुपये के नोट की छपाई का मूल्य 3 रुपये प्रति नोट आ रहा है,

इसका मतलब यह नहीं है कि आरबीआई कितने भी नोट छाप सकता है। अगर ऐसा होता तो भारत की अर्थव्यवस्था कभी नीचे नहीं जाती और भारत गरीबों से बहुत आगे और विकसित दुनिया में सबसे आगे होता।

200 रुपये और 500 रुपये के करेंसी नोटों की छपाई की लागत

200 रुपये के नोट की छपाई में 2.93 रुपये प्रति नोट का खर्च आता है। इसकी लंबाई और चौड़ाई का अनुपात 66 X 146 mm² है।

200 के नोट पर ‘सांची के स्तूप’ की तस्वीर छपी है। इसी तरह 500 रुपये के नोट को छापने की कीमत 2.94 रुपये प्रति नोट है। इस नोट पर ‘लाल किले’ की तस्वीर छपी है।

2000 रुपये के करेंसी नोटों की छपाई की लागत

2000 रुपये के नोट की चौड़ाई और लंबाई का अनुपात 66 X 166 mm² है। 2000 रुपये का नोट देश का सबसे कीमती करेंसी नोट है।

इस नोट पर ‘मंगलयान’ की तस्वीर छपी है। रिजर्व बैंक ने नोटबंदी के बाद 2016 में नोट जारी किया था। 1 2,000 रुपये के नोट की छपाई की लागत 3.54 रुपये प्रति नोट है।

भारतीय रिजर्व बैंक की स्थापना वर्ष 1935 में हुई थी। RBI द्वारा जारी किया गया पहला करेंसी नोट 5 रुपये का नोट था।

नोट 1938 में छपा था और इसमें किंग जॉर्ज VI का चित्र था। भारतीय मुद्रा को भारतीय रुपया (INR) कहा जाता है। भारतीय रुपए का प्रतीक “₹” है।

1 अक्टूबर से बेकार हो जाएगी पुरानी Cheque Book

Leave a Comment