Pizza Explained In Hindi By Desh Jagat

Pizza Movie :- पिज़्ज़ा खाना पसंद है स्पेशली जिसमें एक्ट्रेस चाहिए मिल जाए फिर क्या मुंह में पुरी पानी की बोतल खुल जाती आज आखरी बार पिज्जा की होम डिलीवरी करवा कर आखरी मजे उठा लो।


क्योंकि आज के बाद पिज्जा का पी तक याद नहीं रखोगे।  एक ऐसी कहानी जो सोचने पर मजबूर कर देगी आखिर इंसान का सबसे बड़ा दुश्मन कौन है?

Pizza Movie Explained In Hindi By Desh Jagat

Pizza Movie


भगवान शैतान या फिर इंसान खुद Pizza Movie एक यूनिक स्पेशल लेकिन खतरनाक दिमाग को उठाकर पटक ने वाली मिस्ट्री थ्रिलर फिल्म जो होरर का मांस लगाकर हमारे दिमाग के पीछे न्यूक्लियर मिसाइल का अटैक कर देती है।


एंड यस एक बार फिर से तुम्हारे पैसों की शेविंग करने की जिम्मेदारी मेरी है क्योंकि फिल्म हंड्रेड परसेंट फ्री मिलेगी और फिल्म हिंदी है तो डबिंग नोटेशन।


Story


कहानी कुणाल के अराउंड लिखी गई है जो एक कंपनी में मामूली सा Pizza डिलीवरी ब्वॉय है जो फोन पर आर्डर मिलने के बाद गेट पर घंटी बजाकर गरमा गरम पिज्जा वह भी सिर्फ 30 मिनट में इस काम में कुणाल उस्ताद है।


लेकिन यह जो पिज्जा कंपनी का बॉस है वह थोड़ा दिमाग से थोड़ा  टेढ़ा मेड़ा है इनके घर पर इनकी बीवी है जिन को सपनों में भूत दिखाई देते हैं।


तांत्रिक का जादू टोना या हॉस्पिटल की सबसे महंगी दवाइयां सब कुछ उन पर इस्तेमाल हो चुका है लेकिन बॉस की बाइक हांटेड जिंदगी जीने को मजबूर है।


कुछ लोग तो यू बोलते हैं कि उनके पेट में इंसान नहीं भूत छुपा हुआ है जिसका डेमो अपने कुणाल भैया लाइव आंखों से देख चुके हैं।


वैसे प्रेग्नेंट से याद आया अपने कुणाल भैया की जीवन साथी भी पेट से हैं इनकी फैमिली जल्द ही डबल से तिबल होने वाली है।


कुणाल भैया की वाइफ घोस्ट राइटर है जो भूत प्रेत की कहानी लिखकर इंसानों को डराना इनकी जिंदगी जीने का तरीका बन चुका है


कहानी में तब ट्विस्ट आता है जब कुणाल भैया की एंट्री एक बड़े से बंगले में देर रात को होती है लेकिन जब कुणाल घर में इन होते हैं तब घर के लोग आउट हो जाते हैं मतलब कुणाल भैया अंदर और घर के लोग सब बाहर।


फिर होता है अंधेरा और फिर शुरुआत होती है अजीबोगरीब इंसीडेंट की जो है पहला की घर की मालकिन एक दीवार पर टंगी हुई है जिनके शरीर से एक हथोड़ा आर पार हो चुका है।


दूसरा है इनके पति वह तो इनसे भी 1 लेबल के ऊपर है बंदा बहार घर की घंटी बजा कर इसी शक में डूबा हुआ है कि उनकी वाइफ किसी दूसरे मर्द के साथ गुलछर्रे उड़ा रही हैं।


लेकिन सिर्फ 5 मिनट में यह भी पाए जाते हैं घर के बर्थ टब में वह भी जिंदा नहीं मुर्दा घर का तीसरा मेहमान जो पहली नजर में डरावना तो नहीं लगता जो एक प्यारी सी मासूम सी बच्ची है वह कुणाल को अपना पापा बुलाती है।


लेकिन जब बंदा पापा से इनकार करता है तब मासूम की बच्ची में से निकलता है शैतान और एक लास्ट मेहमान जो कुणाल के साथ-साथ घर में इंटर हुआ था।


अपने पिज्जा भाई साहब इनके हालात थोड़े गड़बड़ हैं क्योंकि चीज के जगह कुछ कीड़े मकोड़े इनका स्वाद बढ़ा रहे हैं।


अब आखिरी ट्विस्ट भी सुनते जाओ कुणाल बाबू जब मदद के लिए अपनी पत्नी को फोन लगाते हैं जैसे ही इनकी पत्नी बंगले के दरवाजे पर पहुंचती है और पीछे से पति पत्नी और वो इनका वेलकम कर देते हैं विथ द हथोड़ा।


बोलो क्या लगता है कुणाल भैया की बीवी तो स्वर्ग या नर्क के दर्शन करने आसमान में चली गई क्या यह बंदा धरती पर रह पाएगा अगर हां तो कहीं भूतों के साथ फैमिली बनकर कर तो नहीं जीना पड़ेगा।


और हां अपने बॉस की पत्नी से इस मुक्का लात वाले भूत से कोई कनेक्शन तो नहीं है मुझे तो उस बंदी पर पहले से ही सकता।


देखो इस गलतफहमी में मत रहना कि पिज़्ज़ा एक मामूली सी हॉरर फिल्म है जिसे आंखों से देखकर आसानी से दिमाग से बाहर निकाल दोगे।


पिज्जा एक क्लासिक थ्रिलर फिल्म सस्पेंस है जो दिमाग को खुला खुला चैलेंज करने पर मजबूर कर देगी और हां दिमाग के साथ-साथ दिल की सेफ्टी रखना भी बहुत जरूरी है।


क्योंकि पिज्जा उन फिल्मों में से बिल्कुल नहीं है जिस में आधे घंटे में एक दो सीन  मिलते हैं डर वाले पिज्जा के अंदर हर दूसरे मिनट पर एक खतरनाक सींस के दर्शन होते हैं।


मतलब जो आपने बचपन में गंदे भयानक सपने देखे होंगे उन सपनों को शक्ल देने का काम करती है यह फिल्म एक के बाद एक लगातार वह भी नॉनस्टॉप।


लेकिन सावधान कर दो फिल्म की एंडिंग है उसकी तैयारी पहले से ही कर लीजिए क्योंकि ऐसा जोर सा झटका लगेगा मानो आसमान से गिरे तो सीधा जमीन पर धड़ाम।


वैसे वैसे एक छोटी सी टिप देता हूं मानना या ना मानना आपकी मर्जी फिल्म एयर फोन या हेडफोन पर लगा के देखोगे तो एक्सपीरियंस एकदम बवाल हो जाएगा मतलब मजा दुगना।


फिल्म देखने के लिए ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी अपने यूट्यूब पर ही मिल जाएगी अगर थोड़ी अच्छी क्वालिटी में देखना चाहते हैं तो नेटफ्लिक्स पर जाकर देख सकते हैं।


और हां जिस पिज्जा मूवी की हम बात कर रहे हैं यह रिलीज हुई थी 2014 में और ईस की ओरिजिनल मूवी रिलीज हुई थी 2012 में आई थी तमिल लैंग्वेज में अपने सेठूपति की।


अगर आपको 2012 वाली तमिल देखने की तो वह भी आपको यूट्यूब पर मिल जाएगी बट उसकी हिंदी डबिंग नहीं है पर ओरिजिनल और रिमिक्स फिल्म में वही रिश्ता है जो अपने बाप बेटे का होते हैं।


अब आपको कौन सी वाली देखनी है अब खुद डिसाइड कर लेना अपने हिसाब से बाकी कुछ पसंद आया हो या फिर शिकायत करनी हो तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताइएगा।

Leave a Comment