Ayushman Bharat Digital Mission की शुरुआत आज से, सुरक्षित मेडिकल रिकॉर्ड

Ayushman Bharat Digital Mission: डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत सरकार सभी के लिए एक यूनिक हेल्थ कार्ड बनाएगी, यह कार्ड पूरी तरह से डिजिटल होगा जो आधार कार्ड की तरह दिखेगा.

Prime Minister Narendra Modi launch Ayushman Bharat digital mission today

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए Ayushman Bharat Digital Mission की शुरुआत की, प्रधानमंत्री मोदी ने भी सभा को संबोधित किया।

प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साल 15 अगस्त को लाल किले के प्रांगण से आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के पायलट प्रोजेक्ट की घोषणा की थी.

यह योजना वर्तमान में 6 केंद्र शासित प्रदेशों में प्रारंभिक चरण में लागू की जा रही है, राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (Ayushman Bharat Digital Mission) की तीसरी वर्षगांठ के अवसर पर देशभर में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन शुरू कर रहा है।

इस मौके पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया भी मौजूद रहेंगे।

क्या होगा फायदा?

एक बार एक अद्वितीय स्वास्थ्य कार्ड बन जाने के बाद, रोगी को डॉक्टर को दिखाने के लिए फ़ाइल ले जाने से छूट दी जाएगी, डॉक्टर या अस्पताल मरीज की यूनिक हेल्थ आईडी देखेंगे और उसका सारा डेटा निकालेंगे और सब कुछ जानेंगे।

इसके आधार पर आगे का इलाज शुरू किया जा सकता है, कार्ड आपको यह भी बताएगा कि कौन सी सरकारी योजनाओं से व्यक्ति को लाभ होता है।

आयुष्मान भारत के तहत इलाज की सुविधा का लाभ मरीज को मिलता है या नहीं, यह इस यूनिक कार्ड के जरिए पता चलेगा।

हेल्थ आईडी में क्या दर्ज होगा

सबसे पहले जिस व्यक्ति की आईडी जनरेट होगी उसका मोबाइल नंबर और आधार नंबर लिया जाएगा, इन दो अभिलेखों का उपयोग कर एक अनूठा स्वास्थ्य कार्ड बनाया जाएगा।

इसके लिए सरकार एक स्वास्थ्य प्राधिकरण का गठन करेगी, जो व्यक्तिगत डेटा एकत्र करेगा, स्वास्थ्य प्राधिकरण को उस व्यक्ति के स्वास्थ्य रिकॉर्ड एकत्र करने की अनुमति होगी, जिसका स्वास्थ्य आईडी बनाया जाना है, इसी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इस तरह बनाएं हेल्थ आईडी (How to Create Health id)

एक सार्वजनिक अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र या स्वास्थ्य सेवा प्रदाता जो राष्ट्रीय स्वास्थ्य अवसंरचना रजिस्ट्री से जुड़ा है, एक व्यक्ति की स्वास्थ्य आईडी उत्पन्न कर सकता है।

आप https://healthid.ndhm.gov.in/register पर अपना खुद का रिकॉर्ड रजिस्टर करके भी अपनी हेल्थ आईडी बना सकते हैं।

स्वास्थ्य बीमा योजना में कोविड-19 भी शामिल है

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत कई अन्य बीमारियों के साथ-साथ कोविड-19 भी कवर किया जाता है।

एनएचए की वेबसाइट के मुताबिक योजना के दायरे में आने वाले किसी भी निजी अस्पताल में कोरोना की जांच और इलाज नि:शुल्क होगा, निजी अस्पताल में क्वारंटाइन का खर्च भी इस बीमा योजना के तहत कवर किया जाएगा।

बनाया जाएगा अनोखा हेल्थ कार्ड

डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत सरकार सभी के लिए एक यूनिक हेल्थ कार्ड बनाएगी, यह कार्ड पूरी तरह से डिजिटल होगा जो आधार कार्ड की तरह दिखेगा।

इस कार्ड पर आपको नंबर मिल जाएगा, क्योंकि नंबर बेस में है, यह अंक स्वास्थ्य के क्षेत्र में व्यक्ति की पहचान करेगा, इस नंबर के जरिए डॉक्टर को उस व्यक्ति का पूरा रिकॉर्ड पता चल जाएगा।

RED MORE

Leave a Comment